भारतीय प्रसारण नेटवर्क, दूरदर्शन राष्ट्र बाहर के शहरों और गांवों के
माध्यम से कवर, दुनिया के सबसे बड़े स्थलीय नेटवर्क है.
•    डी डी यू पी सम्मान-२०१६ में भरी संख्या में आवेदन के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद ।    •    दूरदर्शन के माध्यम से प्रदेश एवं देशवासियों को हार्दिक शुभकामनायें पहुँचाने हेतु विज्ञापन अनुभाग कमरा नं. २०२, में सम्पर्क कर सकते है।   •    डीडी यूपी इन चैनलों डीडी फ्री डिश-33,डेन-137,नेटविजन-138, लखनऊ नाइन-237,बिग टीवी-250, एयरटेल-299, हाथवे-483, सिटी केबल-671, डिश टीवी-823, वीडियोकॉन डी2एच -८८९ और टाटा स्काई-1195 पर भी उपलब्ध है।    
लखनऊ दूरदर्शन में आपका स्वागत है

उत्तर प्रदेश की समृद्ध और बहुरंगीय संस्कृति का प्रसारण दूरदर्शन द्वारा सर्वप्रथम 27नवम्बर, 1975 को उस्ताद बिस्मिल्लाह खान की शाहनाई वादन के साथ (22-अशोक मार्ग, लखनऊ में स्थापित एक अंतरिम सेटअप द्वारा) किया गया था। जो कि वर्तमान में दूरदर्शन प्रशिक्षण संस्थान (डी.टी.आई) के रुप में सेवारत् है। शिक्षा, सूचना और मनोरंजन के राष्ट्रीय आदर्श की गूंज का भव्यता के साथ, डी.डी. नेशनल की रंगीन प्रसारण सेवा 15अगस्त, 1982 को प्रारम्भ हुई। 38 वर्ष की यात्रा में, 16 अगस्त, 2013 को प्रारम्भ हुई 24*7 सैटेलाइट चैनल की शुरुआत ने इसके इन्द्रधनुष में एक नया रंग जोड दिया।

1987 में (रिलायंस कप) विश्व क्रिकेट के दौरान, एक ओ०बी० वैन (4 रंगीन कैमरा चैन के साथ, रिकार्डिग सुविधा और माइक्रोवेव लिंक के साथ) और 1989 में ई.एफ.पी. वैन (3 रंगीन कैमरा चैन ओैर रिकार्डिग सुविधा के साथ) वाह्य प्रसारण की सुविधा हेतु दूरदर्शन लखनऊ से जुडी और हमारे प्रसारण को और मजबूत किया।
उन्नति के अगले चरण में जनवरी 1989 मे INSAT-2B पर अर्थस्टेशन से उत्तर प्रदेश की क्षेत्रीय प्रसारण सेवा का आरम्भ हुआ जो कि वर्तमान में INSAT-4B पर हो रहा है। वर्तमान में 24 घण्टे का प्रसारण अर्थस्टेशन से प्लेबॉक्स सर्वर के माध्यम से हो रहा है।

कार्यक्रम श्रेणियाँ

विज्ञानं से ध्यान की ओर
कृषि दर्शन
26 जनवरी 2016
सिनेमा
बोले यूo पीo
हमारे कार्यक्रम

डायरेक्ट टू होम (डीटीएच)

डायरेक्ट टू होम (डीटीएच) सेटेलाइट टेलीविजन की वजह से डीटीएच प्रसारकों और दर्शकों दोनों के लिए काफी अवसर प्रदान करता है कि इस तथ्य के उपग्रह प्रसारण उद्योग में एक पीढ़ी का मूल मंत्र होता जा रहा है।